What is SEO: A beginner’s guide in Hindi

What is SEO (Search Engine Optimization)?

SEO का मतलब होता है सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन । या अगर दूसरे तरीके से बोले तो Search Engine जैसे की Google या Bing के लिए अपनी website को अनुकूल या friendly बनाना। Search Engine Optimization से आप अपनी website के traffic, उसकी गुणवत्ता और website की ब्रांड को अच्छा कर सकते है।

SEO क्यों जरूरी है?

Google पर एक दिन में अरबो की संख्या में searches होती है।  करोड़ो की संख्या में या  शायद इससे भी ज्यादा websites है, blogs है या किसी न किसी तरह की web presence है और इनमे से अगर एक website आपकी भी हो लेकिन ढूंढ़ने से भी मिल न रही हो क्योकि आप की website Search Engine पर नहीं दिखती और आप चाहते है की आप की वेबसाइट ढूंढी जा सके तो SEO इसमें आपकी काफी मदत कर सकता है।

वैसे तो किसी भी वेबसाइट पर advertisement या सोशल मीडिया जैसे की Twitter या Facebook से traffic को बढ़ाया जा सकता है पर ट्रैफिक का एक बड़ा भाग अब भी search engines पर लोगो के द्वारा किये हुए डायरेक्ट search या organic खोज से ही आता है। और इसलिए SEO का role किसी भी वेबसाइट के लिए important होता है.

what-is-seo-guide-in-hindi

SEO के द्वारा आये हुए direct या organic search अधिक विश्वसनीय दिखाई देते हैं, और भुगतान किए गए विज्ञापनों की तुलना में अधिक क्लिक प्राप्त करते हैं। उदाहरण के तौर पर organic search से आये हुए results पर औसतन 97% लोग विज्ञापनों से आये हुए search results की तुलना में ज्यादा click करते है।  इसके अलावा SEO के पास मोबाइल और computer पर advertisement से लाये गए traffic की तुलना में लगभग २० गुना ज्यादा ट्रैफ़िक आने को मौका होता है।

It can save you money:

ये आपके पैसे बचाता है

अगर आप SEO को अच्छी तरह से करते है तो ये आपके advertisement में खर्च होने वाले पैसो को बचाता है और आपके content को निरन्तर search engine की ranking में ऊपर लाने में या रखने में हेल्प करता है।

SEO खुद करे या किसी जानकार को पैसे दे कर कराये?

ये इस बात पर निर्भर करता है की आपकी website कितनी बड़ी है, उसकी जटिलता कितनी है और उसपर आप time देने की स्थति में है या नहीं।  अगर आप किसी personal blog या website को चला रहे है तो आप खुद भी कुछ बुनियादी SEO कर सकते हैं। अगर आप को SEO का ज्ञान नहीं है तो भी आप कुछ ही दिनों में basic SEO को सीखकर उसे अपनी website या blog की optimization में use कर सकते है।

SEO कहाँ पर सीखे ?

इंटरनेट पर बहुत सारी websites है जहाँ पर आप अगर SEO नहीं जानते तो सीख सकते है।  इनमे से कई websites तो आपको सीखने के बाद digital certificate भी देती है। कुछ SEO को सिखाने वाली websites के नाम:

Semrush

Coursera

इसके साथ ही YouTube पर भी SEO से related अनगिनत videos मौजूद है।

Ahrefs

SEO For Beginners: A Basic Search Engine Optimization Tutorial for Higher Google Rankings

 

WPBeginner

What is SEO and How Does it Work?

SEO के प्रकार

White Hat SEO और Black Hat SEO क्या है और इनमे से किस का use अपनी site पर करे और किस SEO practice से दूर रहे?

SEO की दुनिया में दो तरह के नाम अक्सर बोले जाते है White Hat SEO और Black Hat SEO. दोनों में उसी तरह का फर्क है जैसे अच्छी और बुरी चीज़ के बीच होता है।  White Hat SEO में SEO का use सही तरीको से करके, बिना Search Engines को cheat करे अपने contents की ranking को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है।

Black Hat SEO का प्रयोग White SEO से बिलकुल विपरीत अपनी ranking को किसी भी तरह के अनैतिक, गलत और भर्मपूर्ण तरीको का प्रयोग करके किया जाता है।

White Hat Seo का सिद्धांत अगर देखा जाये तो Google ने जो Webmaster के लिए SEO का बुनियादी सिद्धांत या दिशानिर्देश बनाया है उससे काफी हद तक मिलता है।  और ये बुनियादी बाते कहती है की अगर आप अपना blog या website बनाते है तो इस बात का ध्यान रखे की

आपका content Users के लिए हो न की Search Engine के लिए।

अपने user को धोखा न दें।

Search Engine में आपका content rank में अच्छा हो इसके लिए गलत तरकीबो का use न करे।

इस बात का हमेशा ख्याल रखे की आपका content अच्छा है, निराला है और आपके users को मूल्यवान जानकारी उपलब्ध कराता है।

इसके ठीक विपरीत Black Hat SEO का main मकसद ये होता है की किसी भी तरह अपनी website या blog को Search Engine Ranking में ऊपर लाना और इसके लिए इन तरह की चीज़ो या गतिविधियों का प्रयोग करना जो की गलत है या wrong practice के अंतर्गत आती है;

Content को automation पर रखना जिससे की content खुद उत्पन्न होता रहे।

Links की scheme में भाग लेना या links खरीदना।

ऐसा content बनाना जो users को कोई जानकारी नहीं देते या बहुत ही बेकार हो।

दुसरो का content लेना और उसे अपने blog या site में ड़ाल देना (कॉपी)।

Keywords से बिलकुल अलग का content दिखाना।

Search Engine को गुमराह करके छिपे हुए links या सामग्री दिखाना।

किस search engine  का ध्यान रखते हुए Search Engine Optimization (SEO) करे।

लगभग पिछले 15-20 सालो से जब से Google का जन्म हुआ है, Search Engines  में Google का सानी दूसरा search engine नहीं है।  Search engines में Google या Google की दूसरी companies जैसे YouTube का ही बर्चस्व रहा है।  वैसे Microsoft की Bing या Yahoo भी search engines की सेवाएं देते है लेकिन इनका Google की तुलना में काफी कम प्रयोग होता है।  और इसलिए अगर SEO की बात आती है तो Search Engine के लिए Google का ही नाम  है।

और एक खास बात यहाँ पर ये भी है की अगर आप की site Google पर अच्छा कर रही है क्योकि ये Google की SERP (Search Engine Results Page) के ऊपर की position पर आती है तो इस बात की सम्भावना भी बहुत ही बढ़ जाती है की इसकी SERP दूसरे Search Engines पर भी अच्छी ही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *